February 25, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Acid attack on 17-year-old schoolgirl in Delhi, 3 youths arrested

Acid attack on 17-year-old schoolgirl in Delhi, 3 youths arrested

दिल्ली में 17 साल की स्कूली छात्रा पर एसिड अटैक, 3 युवक गिरफ्तार

दिल्ली में 17 साल की स्कूली छात्रा पर एसिड अटैक, 3 युवक गिरफ्तार

Acid attack on 17-year-old schoolgirl in Delhi, 3 youths arrested
Acid attack on 17-year-old schoolgirl in Delhi, 3 youths arrested
Acid attack on 17-year-old schoolgirl in Delhi, 3 youths arrested

 

दिल्ली के द्वारका में आज सुबह स्कूली छात्रा पर हुए एसिड अटैक के मामले में तीनों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। 17 साल की छात्रा पर बाइक सवार ने तेजाब से हमला किया था जो सफदरजंग अस्पताल में भर्ती है।

बुधवार को दिल्ली के द्वारका में एक लड़के ने स्कूली छात्रा पर करीब सुबह 9 बजे एसिड से अटैक कर दिया था. इसके बाद लड़की को सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया था. दिल्ली पुलिस को करीब 9 बजे मोहन गार्डन के पास छात्रा पर तेजाब फेंकने की सूचना मिली थी. पुलिस के मुताबिक, छात्रा की उम्र 17 साल है. वह अपनी छोटी बहन के साथ खड़ी थी. तभी बाइक सवार दो युवकों ने उस पर एसिड फेंक दिया था. 17 वर्षीय स्कूली छात्रा पर एसिड अटैक मामले में पुलिस ने सभी तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. यह जानकारी डीसीपी एम हर्षवर्धन ने दी. पश्चिमी दिल्ली के उत्तम नगर के मोहन गार्डन इलाके में बुधवार(14 दिसंबर) की सुबह स्कूल जाने के लिए घर से निकली 17 वर्षीय लड़की पर बाइक सवार दो नकाबपोश व्यक्तियों ने तेजाब फेंक दिया था, जिसके बाद उसे गंभीर हालत में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है. स्पेशल सीपी सगरप्रीत हुड्डा ने बताया कि बुधावर(14 दिसंबर) को मोहन गार्डन थाने इलाके में 1 छात्रा पर 2 लड़को ने एसिड फेंका. इसके मुख्य आरोपी सचिन अरोड़ा और हर्षित को पहले गिरफ्तार किया गया फिर उसके साथी आरोपी वीरेंद्र सिंह को भी अरेस्ट कर लिया गया. उन्होंने बताया कि वीरेंद्र सचिन का मोबाईल लेकर दूसरी जगह पर था ताकि जांच हो तो पुलिस को लगे कि सचिन की लोकेशन कहीं और है. आरोपियों ने तेजाब फ्लिपकार्ट से खरीदा था. दिल्ली पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान कर गिरफ्तार किया है. डीसीपी एम हर्षवर्धन ने कहा कि आरोपियों ने हो सकता है कि पीड़िता के घर की रेकी की हो. उन्होंने आगे बताया कि बाइक सवार दो आरोपी पीड़िता के घर के पास ही रहते थे. छात्रा के पिता ने कहा कि बेटी ने कभी किसी छेड़खानी या किसी परेशानी की शिकायत नहीं की थी. पीड़िता के चाचा ने बताया कि वो अपनी बहन के साथ जा रही थी तभी उस पर एसिड अटैक किया गया. उन्होंने कहा कि असहनीय दर्द होने पर वह मदद के लिए पास की दुकानों की ओर दौड़ी, तो एक दुकानदार ने दर्द कम करने के लिए उसके चेहरे पर दूध डाला. उपराज्यपाल वी.के सक्सेना ने मामले पर दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा से बात की. एसजी के ऑफिस ने ने ट्वीट किया, “उपराज्यपाल ने आज द्वारका मोड़ पर हुई तेजाब हमले की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे में पुलिस आयुक्त से बात की और घटना को लेकर विस्तृत रिपोर्ट मांगी. इस रिपोर्ट में यह भी बताने के लिए कहा गया है कि शहर में बिक्री पर प्रतिबंध के बावजूद तेजाब कैसे खरीदा गया.” इस पूरे मामले पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्विट किया, “ये बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. अपराधियों की इतनी हिम्मत आखिर हो कैसे गई? अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए. दिल्ली में हर बेटी की सुरक्षा हमारे लिए महत्त्वपूर्ण है.” दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्विटर पर स्कूल में पढ़ने वाली पीड़ित लड़की के लिए न्याय की मांग की और देश में तेजाब की खुलेआम बिक्री पर प्रतिबंध लगाने में नाकाम रहने के लिए सरकार की आलोचना की छात्रा का अस्पताल में इलाज जारी है. पुलिस के मुताबिक, छात्रा की हालत स्थिर है. हालांकि, पुलिस का कहना है कि डॉक्टर्स इस बारे में ज्यादा जानकारी दे सकते हैं. पीड़ित छात्रा के पिता ने बताया कि घटना के बाद उनकी छोटी लड़की भागते हुए घर आई और बताया कि उसकी बड़ी बहन पर एसिड फेंका गया है. हमलावर दोनों युवकों ने अपने चेहरे ढक रखे थे. इसलिए उनकी अभी तक पहचान नहीं हो पाई है. छात्रा की दोनों आंखों में एसिड चला गया है.

मलावर सीसीटीवी में कैद
पीड़ित छात्रा ने दो लड़कों पर शक जताया था. पुलिस ने इस मामले में पहले एक संदिग्ध को हिरासत में लिया था. इस घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ गया गया था. फुटेज में देखा जा सकता है कि दो लड़के बाइक से आते हैं और छात्रा पर एसिड फेंक देते हैं. दोनों युवकों ने अपना चेहरा ढक रखा था. इसके बाद दोनों युवक बाइक से फरार हो गए थे
पीड़ित छात्रा की दोनों आंखों में गया एसिड

दिल्ली पुलिस ने द्वारका इलाके में दो बाइक सवार लड़कों की ओर से 17 वर्षीय स्कूली छात्रा पर तेजाब फेंकने के मामले को सुलझाते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों बालिग हैं। गंभीर रूप से जख्मी छात्रा का इलाज चल रहा है। लड़की के पिता ने बताया कि एसिड उनकी बेटी की आंखों में भी चला गया। पीड़िता ने दो संदिग्धों की पहचान की थी। सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर बी.एल. शेरवाल ने बताया कि लड़की की हालत स्थिर है। यह घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इसमें दो लड़कियां सड़क के किनारे चल रही हैं। तभी एक बाइक पर पीछे बैठा लड़का उस छात्रा पर तेजाब फेंक देता है।

एसिड की बिक्री पर रोक लगाएं…

दिल्ली के द्वारका में छात्रा पर हुए एसिड अटैक के मामले में नया खुलासा हुआ है. पुलिस को छानबीन के दौरान पता चला है कि आरोपी ने छात्रा पर हमला करने के लिए ऑनलाइन तेजाब मंगवाया था. अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि ये तेजाब कितना प्रभावी था और कितना नुकसान कर सकता है. पुलिस ने इस मामले में तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.दिल्ली महिला आयोग ने इस घटना पर संज्ञान लिया है. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने ट्वीट कर बताया कि द्वारका मोड़ के पास एक स्कूली छात्रा पर तेजाब फेंका. हमारी टीम पीड़िता की मदद के लिए अस्पताल पहुंच रही है. बेटी को इंसाफ दिलाएंगे. दिल्ली महिला आयोग सालों से देश में तेजाब बैन करने की लड़ाई लड़ रहा है. कब जगेंगी सरकारें? महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने इस घटना पर चिंता जताते हुए सवाल किया कि तेजाब की बिक्री पर रोक क्यों नहीं लगाई जा सकती। उन्होंने ट्वीट किया, देश की राजधानी में दिन दहाड़े दो गुंडों ने एक स्कूली छात्रा पर तेजाब फेंका। क्या किसी को कानून का डर है? सब्जियों की तरह एसिड आसानी से उपलब्ध है।
आपस में दोस्त थे पीड़िता और आरोपी
दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी सागर प्रीत हुड्डा ने बताया कि पीड़िता की बहन ने आरोपियों की पहचान कर ली थी. जिसमें मुख्य आरोपी सचिन अरोड़ा के साथ उसके साथी हर्षित और वीरेंद्र शामिल थे. उन्होंने बताया कि सचिन और पीड़िता आपस में दोस्त थे. एक महीने पहले दोनों की दोस्ती टूट गई थी. पीड़िता अब लड़के से बात नहीं करना चाहती थी.
दोस्तों के साथ मिलकर रची साजिश
आरोपी इसी बात से खफा था. एसिड अटैक से पहले आरोपी सचिन ने हर्षित और वीरेंद्र के साथ मिलकर पूरी प्लानिंग की. उसी प्लान के तहत हमले को अंजाम दिया गया. वारदात के वक्त मुख्य आरोपी सचिन मोटरसाइकिल पर पीछे बैठा था. जबकि उसका साथी हर्षित मोटरसाइकिल चला रहा था. जैसे ही दोनों पीड़िता के करीब पहुंचे सचिन ने एसिड पीड़ित पर फेंका दिया था.
साजिश में अहम है वीरेंद्र का किरदार
स्पेशल सीपी सागर प्रीत हुड्डा के मुताबिक तीसरे आरोपी वीरेंद्र का इस कहानी में काफी अहम किरदार है. असल में वीरेंद्र खुद सचिन का मोबाइल और उसकी स्कूटी लेकर किसी दूसरी लोकेशन पर गया था. ताकि सचिन की लोकेशन घटना वाली जगह की ना आए. इसी वजह से शातिर वीरेंद्र को गिरफ्तार किया गया है. कुल मिलाकर आरोपियों ने पूरी साजिश को पेशेवर तरीके से रचा था.
ये था पूरा मामला
ऐसे हुई आरोपियों की पहचान
छात्रा की बहन ने बताया कि जब हम स्कूल जा रहे थे, तभी दीदी एकदम चीखी, इसके बाद उन्होंने कहा कि पापा को बुलाओ. मैंने उनका चेहरा देखा, मैं घबरा गई. इसके बाद पापा को बुलाया. फिर दीदी को अस्पताल ले जाया गया. बाइक पर दो लोग थे. बाइक पर नंबर प्लेट नहीं थी. लेकिन कैमरे से मैंने पहचान लिया कि दो लोग हनी और सचिन थे. दोनों दीदी को पहले से जानते थे, लेकिन कुछ इश्यू हुआ था, इसके बाद बात बंद हो गई थी. हालांकि, दोनों लड़कों की पापा से बात होती थी. ये दोनों लड़के उस स्कूल में नहीं पढ़ते थे
महिला आयोग ने लिया संज्ञान

#AcidAttack #acid #Acid_Attack

 

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-