June 22, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Swami Vivekananda

Swami Vivekananda

स्वामी विवेकानंद के खेतड़ी आगमन की याद मनाया विरासत दिवस,निकाली प्रभात फेरी,जगह-जगह पुष्प वर्षा से हुआ स्वागत

स्वामी विवेकानंद के खेतड़ी आगमन की याद मनाया विरासत दिवस,निकाली प्रभात फेरी,जगह-जगह पुष्प वर्षा से हुआ स्वागत

Swami Vivekananda's arrival in Khetri was celebrated as Heritage Day, Prabhat Pheri was taken out, welcomed with flower showers at various places
Swami Vivekananda's arrival in Khetri was celebrated as Heritage Day, Prabhat Pheri was taken out, welcomed with flower showers at various places
Swami Vivekananda’s arrival in Khetri was celebrated as Heritage Day, Prabhat Pheri was taken out, welcomed with flower showers at various places

 

स्वामी विवेकानंद के खेतड़ी आगमन की याद हुई ताजा राजा अजीत सिंह ने किया स्वामी विवेकानंद का स्वागत

खेतड़ी में सोमवार को रामकृष्ण मिशन व नगर पालिका के तत्वावधान में विरासत दिवस मनाया गया। विरासत दिवस का शुभारंभ रामकृष्ण मिशन से प्रातःकाल विद्यार्थियों द्वारा प्रभात फेरी निकालकर किया गया। शाम को राजा अजीत सिंह रामकृष्ण मिशन से अपनी बग्गी में बिठाकर उनके सारथी बनकर शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए पन्नाशाह तालाब पर पहुंचे, जहां पर स्वामी विवेकानंद जी का भव्य स्वागत किया गया। स्वामी विवेकानंद व राजा अजीत सिंह की शोभा यात्रा पर कस्बेवासियों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा का जोरदार स्वागत किया।

विरासत दिवस पर- विवेकानंदमयी हुई खेतड़ी, प्रभात फेरी में जगह-जगह पुष्प वर्षा से हुआ स्वागत

स्वामी विवेकानंद के खेतड़ी आगमन की याद हुई ताजा राजा अजीत सिंह ने किया स्वामी विवेकानंद का स्वागत

कस्बे वासियों ने घरों में जलाए दीपक

 रामकृष्ण मिशन आश्रम में सोमवार को रामकृष्ण मिशन आश्रम एवं नगरपालिका के संयुक्त तत्वावधान में स्वामी विवेकानंद के शिकागो धर्म सम्मेलन में भारत की पताका फहरा कर खेतड़ी आगमन के दिवस को विरासत दिवस के रुप में मनाया गया।

कार्यक्रम का उद्घाटन सुबह 9 बजे से प्रभात फेरी से हुआ।

प्रभात फेरी में क्षेत्र की 13 शिक्षण संस्थानों के दो हजार से अधिक छात्रो ने भाग लिया।

दो रथो में सजे स्वामी विवेकानंद व राजा अजीत सिंह के कट आउटो को गाजे-बाजे के साथ प्रभात फेरी निकाली गई। भारत माता व स्वामी विवेकानंद की जय के उद्घोष के साथ निकाली इस प्रभात फेरी का कस्बे में जगह-जगह पुष्प वर्षा से स्वागत किया गया।

प्रभात फेरी रामकृष्ण मिशन से प्रारम्भ हो मुख्य बाजार, सब्जी मण्डी, अजीत अस्पताल होते हुए वापस रामकृष्ण मिशन पर जाकर समापन हुआ। प्रभात फेरी का उद्घाटन मुख्यअतिथि पालिकाध्यक्ष गीता देवी सैनी व रामकृष्ण मिशन आश्रम के सचिव स्वामी आत्मानिष्ठानंद ने किया।

इस मौके पर स्वामी योगयुक्तानंद, स्वामी प्रशांतानंद, स्वामी हरिहरानंद, स्वामी मुरारीशानंद, स्वामी मातृस्वरुपानंद, पार्षद लीलाधर सैनी, अशोक सिंह शेखावत, थानाधिकारी विनोद सांखला, डा.राघवेन्द्र पाल, बक्सीराम सोनगरा, प्रदीप सुरोलिया, ईश्वर पाण्डे, गोपालराम सैनी, डा.महेन्द्र सैनी, रमाकांत वर्मा, चेतना पाण्डे, सुनिल सैनी, राजेन्द्र यादव, प्रमोद शास्त्री, राजेन्द्र सोनगरा, वेणीशंकर सैनी, मनोज यादव, राहुल सैनी, हरमेन्द्र सैनी, बलबीर मीणा, नरेश शर्मा, नगेन्द्र सिंह सोढा, सुरेन्द्र घुमरिया, शिवराम सैनी, कालीचरण गुप्ता, संजय भूरिया, अमित सैनी, हीरालाल सैनी, सुमन खाखरा, तरुण खीची, चन्द्रमोहन सैनी, पूनम शर्मा, राहुल शर्मा, राजू यादव, विजेश सैनी, मौहम्मद हारुन, सुधीर शर्मा, प्रमिला यादव, विनोद मिश्रा, राजबाला, प्रदीप, निखिल, नितेश पाण्डे सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे। कस्बे से गुजर रही प्रभात फेरी में जगह-जगह स्वामी विवेकानंद की झांकी पर पुष्प वर्षा की गई तथा अनेक स्थानो पर स्वामी आत्मानिष्ठानंद व प्रभात फरी के साथ चल रहे अन्य संतो का माला पहना कर सम्मान किया गया।

इन विद्यालयों के छात्रों ने लिया भाग

नरेश उच्च माध्यमिक स्कूल, सरस्वति पब्लिक स्कूल, दीपक पब्लिक स्कूल, राज महर्षि उच्च माध्यमिक विद्यालय, कानोडिया स्कूल, विवेकानंद पब्लिक शिक्षण संस्थान, शारदा शिशु सदन, शारदा पब्लिक स्कूल, एकता पब्लिक स्कूल, नवचेतना पब्लिक स्कूल, विवेकानंद बाल निकेतन स्कूल, माँ शारदा सिलाई केन्द्र, स्वामी अखण्डानंद कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र के छात्र-छात्राओ ने रैली में भाग लिया

संस्थाओं का किया सम्मान

रामकृष्ण मिशन आश्रम में सोमवार को विरासत दिवस समारोह के अवसर पर भाग लेने वाली विभिन्न शिक्षण संस्थाओ को प्रशस्ति पत्र देकर मुख्यअतिथि पालिकाध्यक्ष गीता देवी सैनी, आश्रम के सचिव स्वामी आत्मनिष्ठानंद व पार्षद लीलाधर सैनी ने सम्मानित किया। इस मौके पर भाग लेने वाले समस्त छात्रों व श्रृद्धालुओ को डा.राघवेन्द्र पाल के सौजन्य से प्रसाद वितरण किया गया।

राजा अजीत सिंह ने स्वामी विवेकानंद के आगमन पर 40 मन देसी घी के दीपक जलाकर भव्य स्वागत किया था। उसी के चलते खेतड़ी कस्बेवासियों ने भी अपने घरों में घी के दीपक जलाकर राजा अजीत सिंह की परंपरा को जीवित रखकर स्वामी विवेकानंद का भव्य स्वागत किया। पन्नाशाह तालाब जगमगाया सहस्त्रों दीपकों से पर प्रातःकाल निकाली प्रभातफेरी
सोमवार को प्रातः काल रामकृष्ण मिशन से विभिन्न विद्यालयों के 16 सो विद्यार्थियों द्वारा खेतड़ी कस्बे के मुख्य मार्गो से होते हुए प्रभात फेरी निकाली गई। प्रभात फेरी को रामकृष्ण मिशन सचिव स्वामी आत्मनिष्ठानद, नगर पालिका चेयरमैन गीता सैनी, अशोक सिंह शेखावत, लीलाधर सैनी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रभात फेरी का कस्बेवासियों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। प्रभात फेरी में विद्यार्थियों द्वारा स्वामी विवेकानंद व राजा अजीत सिंह के नारो से मानो पूरी खेतड़ी गुंजायमान हो उठी। प्रभात फेरी के अवसर पर पार्षद राहुल सैनी, पार्षद नगेन्द्र सोडा, पार्षद हारून, पार्षद बिजेश सैनी, अमित सैनी, रमाकांत वर्मा, राजेंद्र यादव, सुधीर वशिष्ठ, प्रदीप सुरोलिया, डॉ राघवेंद्र पाल, ईश्वर पांडे, अमित सैनी सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद थे।

शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में भारत की पताका फहराकर 12 दिसम्बर को आए विवेकानंद खेतड़ी

12 दिसंबर को विरासत दिवस युगपरुष राजा अजीत सिंह के अभिन्न मित्र स्वामी विवेकानंद 11 सितंबर 1893 को
शिकागो में आयोजित सर्वधर्म महासभा में भारत की गौरवशाली आध्यात्मिक विरासत को विश्व के उच्च आसन पर प्रतिष्ठित कर
स्वदेश लौटने के पश्चात खेतड़ी आगमन होने पर किए गए भव्य स्वागत को चीरस्थाई बनाने के लिये विरासत दिवस बनाया जाता हैं।

स्वामी विवेकानंद के शिकागो धर्म सम्मेलन से वापस लौट कर खेतड़ी आगमन पर 12 दिसम्बर 1897 को राजा अजीतसिंह द्वारा स्वयं राज बग्घी में बैठकर खेतड़ी सीमा पर पहुंचकर स्वामी जी का सम्मान कर राज बग्घी मैं बैठाकर जुलूस के रुप में खेतड़ी में लाकर उनके सम्मान में पन्नासर तालाब पर किये गये जलसे की याद पुन: आज विरासत दिवस समारोह में ताजा की गई। अपरान्ह 5 बजे राजा अजीतसिंह की जीवंत झांकी में राजा अजीतसिंह को राज बग्घी में बैठाकर गाजे- बाजे से रामकृष्ण मिशन आश्रम से पन्नासर तालाब ले जाया गया। राजा अजीतसिंह ने पुष्पो का गुलदस्ता भेट कर स्वामी जी का सत्कार कर बग्घी में बैठाकर जुलूस के रुप में गाजे-बाजे के साथ लेकर कस्बे के प्रमुख मार्गो से होते हुये पन्नासर तालाब पहुंचे। इस मौके पर राजा अजीत सिंह ने स्वामी विवेकानंद को गुलदस्ता भेट कर स्वागत किया। इस मौके पर स्वामी विवेकानंद के रुप में चेतना पाण्डे, राजा अजीतसिंह के रुप में हरवेन्द्र सैनी, मुंशी जगमोहनलाल के रुप में गोपालराम सैनी तथा नारायणलाल शास्त्री के रुप में पंडित रामसुन्दरदास ने भाग लिया। इस मौके पर स्वामी आत्मनिष्ठानंद, अशोक सिंह शेखावत, ईश्वर पाण्डे, जुल्फीकार भीमसर, रमाकांत वर्मा, राजेन्द्र यादव, निकेश पारीक, विनोद सोनी, राजेश सांखला, कालीचरण गुप्ता, होशियार सैनी, अभिषेक, गोपीराम, तरुण खीची सहित दर्जनों श्रृद्धालु मौजूद थे।

 

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-