February 25, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura

Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura

कुतुबपुरा में आजिविका और उद्यम विकास कायर्क्रम के तहत प्रशिक्षण कायर्क्रम आयोजन

कुतुबपुरा में आजिविका और उद्यम विकास कायर्क्रम के तहत प्रशिक्षण कायर्क्रम आयोजन

Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura

Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura
Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura

 

कुतुबपुरा में आजिविका और उद्यम विकास कायर्क्रम के तहत प्रशिक्षण कायर्क्रम आयोजन

मण्ड्रेला क्षेत्र की ग्राम पंचायत धत्तरवाला के गांव कुतुबपुरा में सोमवार को रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान के की ओर से राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक झुंझुनूं के सहयोग से आजिविका और उद्यम विकास कायर्क्रम के तहत ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष भोपाल सिंह की अध्यक्षता में दस दिवसीय प्रशिक्षण कायर्क्रम का आयोजन शुरू हुआ।

कायर्क्रम के मुख्य अतिथि पूर्व पशुचिकीत्सा अधिकारी डाॅ विजय सिंह थे।

विशिष्ट अतिथि मुख्य वक्ता संस्थान के परियोजना प्रबंधक भूपेन्द्र पालीवाल, ग्राम पंचायत धतरवाला के पशु उपस्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी एलएसए प्रियंका कुमारी,एलएसए अशोक कुमार,संस्थान के जल, ग्रामीण विकास समन्वयक संजय शर्मा थे।

मुख्य अतिथि सिंह ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए बकरीपालन की सम्पूर्ण जानकारी देते हुए उनमें होने वाले टीकाकरण के तहत लगने वाले फड़कीया की टीका, गोट पोक्स वैक्सीन एंव चार वर्ष में एक बार पीपीआर(निमोनिया) का वैक्सीन,पेट के कीड़ों की दवाई हर चार माह में अवश्य देने सहित उनके मेंमनों के देखभाल के बारे में जानकारी दी।

मुख्य वक्ता पोलिवाल ने संस्थान के परियोजना प्रबंधक ने सभी को संस्थान के जल संरक्षण, कृषि एवं पयार्वरण संरक्षण के क्षेत्र में किए जाने वाले कार्यों के साथ-साथ छोटे व गरीब परिवारों के लिए बकरी पालन व्यवसाय को सही बताते हुए उन्होनें बताया कि हर तरह की बीमारी में बकरी का दुग्ध कितना फायदेमंद रहता है।

पशुउपस्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी एलएसए प्रियंका कुमारी ने उपस्थित सभी ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए बकरीपालन और अन्य पशुओं के चारागाह,आहार व उनमें होने वाले रोग एंव उनके टीकाकरण की विस्तार से जानकारी दी और कहा कि पशुओं के समय पर टीकाकरण करवाने को कहा।

कायर्क्रम का संचालन संस्थान के जल समन्वयक संजय शर्मा ने किया व सभी प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि इन 10 दिनों में बताये गये सभी बातों को ध्यान में रखकर बकरी पालन करना चाहिये।

अंत में गोविन्द सिंह ने सभी अतिथीयों व प्रशिक्षणार्थीयों का आभार व धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर संस्थान क्षैत्रिय पयर्वेक्षक अनिल सैनी सहित प्रशिक्षणार्थी महिला एंव पुरूष उपस्थित थे।

 

रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान, चिड़ावा

वीडियो यहा देखें पसंद आए तो
plz share,like,comment and subscribe my channel

👇👇👇👇👇👇👇

 

 

Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura
Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura
Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura
Training program organized under livelihood and enterprise development program in Qutubpura

मण्ड्रेला क्षेत्र की ग्राम पंचायत धत्तरवाला के गांव कुतुबपुरा में सोमवार को रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान के की ओर से राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक झुंझुनूं के सहयोग से आजिविका और उद्यम विकास कायर्क्रम के तहत ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष भोपाल सिंह की अध्यक्षता में दस दिवसीय प्रशिक्षण कायर्क्रम का आयोजन शुरू हुआ।कायर्क्रम के मुख्य अतिथि पूर्व पशुचिकीत्सा अधिकारी डाॅ विजय सिंह थे।विशिष्ट अतिथि मुख्य वक्ता संस्थान के परियोजना प्रबंधक भूपेन्द्र पालीवाल, ग्राम पंचायत धतरवाला के पशु उपस्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी एलएसए प्रियंका कुमारी,एलएसए अशोक कुमार,संस्थान के जल, ग्रामीण विकास समन्वयक संजय शर्मा थे।मुख्य अतिथि सिंह ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए बकरीपालन की सम्पूर्ण जानकारी देते हुए उनमें होने वाले टीकाकरण के तहत लगने वाले फड़कीया की टीका, गोट पोक्स वैक्सीन एंव चार वर्ष में एक बार पीपीआर(निमोनिया) का वैक्सीन,पेट के कीड़ों की दवाई हर चार माह में अवश्य देने सहित उनके मेंमनों के देखभाल के बारे में जानकारी दी। मुख्य वक्ता पोलिवाल ने संस्थान के परियोजना प्रबंधक ने सभी को संस्थान के जल संरक्षण, कृषि एवं पयार्वरण संरक्षण के क्षेत्र में किए जाने वाले कार्यों के साथ-साथ छोटे व गरीब परिवारों के लिए बकरी पालन व्यवसाय को सही बताते हुए उन्होनें बताया कि हर तरह की बीमारी में बकरी का दुग्ध कितना फायदेमंद रहता है।पशुउपस्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी एलएसए प्रियंका कुमारी ने उपस्थित सभी ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए बकरीपालन और अन्य पशुओं के चारागाह,आहार व उनमें होने वाले रोग एंव उनके टीकाकरण की विस्तार से जानकारी दी और कहा कि पशुओं के समय पर टीकाकरण करवाने को कहा। कायर्क्रम का संचालन संस्थान के जल समन्वयक संजय शर्मा ने किया व सभी प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि इन 10 दिनों में बताये गये सभी बातों को ध्यान में रखकर बकरी पालन करना चाहिये। अंत में गोविन्द सिंह ने सभी अतिथीयों व प्रशिक्षणार्थीयों का आभार व धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर संस्थान क्षैत्रिय पयर्वेक्षक अनिल सैनी सहित प्रशिक्षणार्थी महिला एंव पुरूष उपस्थित थे।

रामकृष्ण जयदयाल डालमिया सेवा संस्थान, चिड़ावा