March 2, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Demand to call a meeting for no-confidence motion against Pilani Pradhan, eight members came for no-confidence motion, fifteen signed

Demand to call a meeting for no-confidence motion against Pilani Pradhan, eight members came for no-confidence motion, fifteen signed

पिलानी प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए बैठक बुलाने की मांग,अविश्वास प्रस्ताव के लिए आठ सदस्य आए,पंद्रह ने किए हस्ताक्षर

पिलानी प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए बैठक बुलाने की मांग,अविश्वास प्रस्ताव के लिए आठ सदस्य आए,पंद्रह ने किए हस्ताक्षर

Demand to call a meeting for no-confidence motion against Pilani Pradhan, eight members came for no-confidence motion, fifteen signed

Demand to call a meeting for no-confidence motion against Pilani Pradhan, eight members came for no-confidence motion, fifteen signed
Demand to call a meeting for no-confidence motion against Pilani Pradhan, eight members came for no-confidence motion, fifteen signed

 

पंचायत समिति में 19 सदस्य हैं। पंचायत समिति के 15 सदस्यों ने प्रधान बिरमा देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग करते हुए बैठक बुलाने की मांग की है।

पिलानी प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए बैठक बुलाने की मांगअविश्वास प्रस्ताव के लिए आठ सदस्य आए, पंद्रह ने किए हस्ताक्षर

पिलानी. नव गठित पिलानी पंचायत समिति के सदस्यों ने सोमवार को जिला परिषद सीईओ को ज्ञापन देकर पिलानी प्रधान बिरमा देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव जताते हुए बैठक बुलाने की मांग की है।

ज्ञापन में कुल पंद्रह सदस्यों के हस्ताक्षर हैं। ज्ञापन देने वालों की संख्या आठ रही, यह संख्या नियमानुसार पर्याप्त होती है। सीईओ को सौंपे ज्ञापन में पंचायती राज अधिनियम के तहत अविश्वास प्रस्ताव के लिए बैठक बुलवाने की मांग की है। जिला परिषद सीईओ को सौंपे गए ज्ञापन में पंचायत समिति के 15 सदस्यों के हस्ताक्षर हैं। पंचायत समिति में 19 सदस्य हैं। पंचायत समिति के 15 सदस्यों ने प्रधान बिरमा देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग करते हुए बैठक बुलाने की मांग की है। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर दोनों ही खेमों ने खेमेबंदी कर रखी है। वहीं पिलानी प्रधान का दावा है कि उसके पास पर्याप्त सदस्य मौजूद हैं।

असंतुष्ट पंचायत समिति सदस्यों ने बताया कि पिलानी पंचायत समिति के प्रधान बिरमा देवी ना ही तो पंचायत समिति में आती है और ना ही विकास के कार्य हो रहे हैं. पंचायत समिति में पर्याप्त बजट होने के बावजूद भी उनके वार्डों में विकास के कार्य नहीं हुए हैं. इसी के चलते उनको अविश्वास प्रस्ताव का कदम उठाना पड़ा है.

अब होगा यह 

जिला परिषद के सीइओ जवाहर चौधरी ने बताया कि कुल उन्नीस सदस्य हैं। नोटिस देने के लिए एक तिहाई होने जरूरी होते हैं। आज नोटिस देने वालों की संख्या आठ थी। जो नियमों के अनुसार पर्याप्त है। अब बैठक के लिए तारीख तय करेंगे। अन्य कागजी कार्रवाई पूरी की जाएगी। इसके बाद वोटिंग करवाई जाएगी। इसके बाद फैसला आएगा।

पंचायत समिति पिलानी की यह है स्थति 

प्रधान: बिरमा देवी, भाजपा

कुल सदस्य: 19

भाजपा के: 7

निर्दलीय: 6

कांग्रेस के: 5

बसपा के : 1

पिलानी. नव गठित पिलानी पंचायत समिति के सदस्यों ने सोमवार को जिला परिषद सीईओ को ज्ञापन देकर पिलानी प्रधान बिरमा देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव जताते हुए बैठक बुलाने की मांग की है।

ज्ञापन में कुल पंद्रह सदस्यों के हस्ताक्षर हैं। ज्ञापन देने वालों की संख्या आठ रही, यह संख्या नियमानुसार पर्याप्त होती है। सीईओ को सौंपे ज्ञापन में पंचायती राज अधिनियम के तहत अविश्वास प्रस्ताव के लिए बैठक बुलवाने की मांग की है। जिला परिषद सीईओ को सौंपे गए ज्ञापन में पंचायत समिति के 15 सदस्यों के हस्ताक्षर हैं। पंचायत समिति में 19 सदस्य हैं। पंचायत समिति के 15 सदस्यों ने प्रधान बिरमा देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग करते हुए बैठक बुलाने की मांग की है। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर दोनों ही खेमों ने खेमेबंदी कर रखी है। वहीं पिलानी प्रधान का दावा है कि उसके पास पर्याप्त सदस्य मौजूद हैं।

असंतुष्ट पंचायत समिति सदस्यों ने बताया कि पिलानी पंचायत समिति के प्रधान बिरमा देवी ना ही तो पंचायत समिति में आती है और ना ही विकास के कार्य हो रहे हैं. पंचायत समिति में पर्याप्त बजट होने के बावजूद भी उनके वार्डों में विकास के कार्य नहीं हुए हैं. इसी के चलते उनको अविश्वास प्रस्ताव का कदम उठाना पड़ा है.

अब होगा यह 

जिला परिषद के सीइओ जवाहर चौधरी ने बताया कि कुल उन्नीस सदस्य हैं। नोटिस देने के लिए एक तिहाई होने जरूरी होते हैं। आज नोटिस देने वालों की संख्या आठ थी। जो नियमों के अनुसार पर्याप्त है। अब बैठक के लिए तारीख तय करेंगे। अन्य कागजी कार्रवाई पूरी की जाएगी। इसके बाद वोटिंग करवाई जाएगी। इसके बाद फैसला आएगा।

 

Demand to call a meeting for no-confidence motion against Pilani Pradhan, eight members came for no-confidence motion, fifteen signed

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-