June 13, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

The office bearers of Rajasthan Patwar Sangh took out a Nyaya Yatra (Aakrosh Rally) demanding solutions to various problems.

The office bearers of Rajasthan Patwar Sangh took out a Nyaya Yatra (Aakrosh Rally) demanding solutions to various problems.

राजस्थान पटवार संघ के पदाधिकारियों ने विभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर निकाली न्याय यात्रा( आक्रोश रैली) निकाली

राजस्थान पटवार संघ के पदाधिकारियों ने विभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर निकाली न्याय यात्रा( आक्रोश रैली) निकाली

The office bearers of Rajasthan Patwar Sangh took out a Nyaya Yatra (Aakrosh Rally) demanding solutions to various problems.
The office bearers of Rajasthan Patwar Sangh took out a Nyaya Yatra (Aakrosh Rally) demanding solutions to various problems.
The office bearers of Rajasthan Patwar Sangh took out a Nyaya Yatra (Aakrosh Rally) demanding solutions to various problems.

राजस्थान पटवार संघ के पदाधिकारियों ने विभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर निकाली न्याय यात्रा( आक्रोश रैली) निकाली
शहीद राजकीय जेपी जानू स्कूल से कलेक्ट्रेट तक निकाली न्याय यात्रा
झुंझुनू राजस्थान पटवार संघ के बैनर तले शक्रवार को तीन जुलाई एवं चार अक्टूबर 2021 को हुए समझौते को लागू नहीं करने पर पटवार संघ जिलाध्यक्ष होशियार सिंह खींचड की अगुवाई में पटवारियों ने शहीद राजकीय जेपी जानू स्कूल से कलेक्ट्रेट तक न्याय यात्रा (आक्रोश रैली) निकाल मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन दिया।

ज्ञापन में बताया कि 3 जुलाई व 4 अक्टूबर 2021 को मुख्यमंत्री के निर्देश पर जो समझौता हुआ था, उसकी क्रियान्विति नहीं हो पाई है। ज्ञापन में बताया कि प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र कुमार की ओर से राजस्व मंडल राजस्थान अजमेर के आगे 14 नवंबर 2022 से लगातार 12 दिन से आमरण अनशन किया जा रहा है।

साथ ही धोलपुर जिलाध्यक्ष राम निवास जाटव 20 नवंबर से एवं नागौर जिलाध्यक्ष 21 नवंबर से आमरण अनशन पर है। लेकिन मांगों पर अमल नहीं हो रहा। दूसरी तरफ मांगों पर अमल नहीं होने से राजस्थान के पटवारी काली पट्टी बांधकर कार्य कर रहे हैं। आरोप है कि इस विकट स्थिति के बावजूद भी सरकार का रुख संवेदनशील नहीं है।

झुंझुनूं कलक्ट्रेट पर पटवारियों ने जमकर प्रदर्शन किया।

पटवार संघ जिलाध्यक्ष होशियार सिंह खींचड़ ने बताया कि 2021 में राजस्थान के पटवारियों की ओर से विभिन्न मांगों को लेकर आंदोलन किया गया था, जिसके बाद राज्य सरकार की ओर से 3 जुलाई व 4 अक्टूबर 2021 को समझौता हुआ।समझौते का काफी समय बीत चुका है, उसके बावजूद आज तक लागू नहीं किया गया है। संगठन की मांगों एवं समझौतें पर सकारात्मक नहीं होने से असंतोष व्याप्त है। साथ ही राजस्व कर्मियों को जिला बदर किए जाने के कारण प्रदेशभर के पटवारियों में बल्कि राजस्व कर्मियों में आक्रोश है। विरोध प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को पत्र भी दिया। जिसमें सरकार के साथ हुए समझौते को जल्द से जल्द करने की मांग की। इसके साथ ही मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई नहीं करने पर संगठन ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

ये रही मांगे

आंदोलन अवधि में हुए मुकदमों को वापिस लेने

कैडर पुनर्गठन कर नए पदों का सृजन करने,

कोटा संभाग एवं सवाई माधोपुर में हुए आंदोलन अवधि के अवकाश को उपार्जित अवकाश में परिवर्तित करने

स्थानांतरण नीति का निर्माण एवं विद्वेषता से प्रताड़ित करने के उद्देश्य से एवं संगठन को कमजोर करने की नियम से दूर दराज जिले में किए गए राजस्व कर्मियों के स्थानांतरण निरस्त करने,

नायब तहसीलदार के पद को राजपत्रित अधिसूचित करते हुए 100 प्रतिशत पदोन्नति एवं तहसीलदार पद को 50 प्रतिशत भू अभिलेख संवर्ग से पदोन्नति के माध्यम से भरने,

समकक्ष कैडरों के समान वेतनमान का निर्धारण किया जाए, पटवारी ग्रेड पे 2800, वरिष्ठ पटवारी ग्रेड पे 3600 करने

भू अभि. निरीक्षक से नायब तहसीलदार पद पर कार्य व्यवस्थार्थ व्यवस्था के स्थान पर नियमित पदोन्नति करते हुए वरिष्ठ पटवारी से भू अभि. निरीक्षक पद पर हुई वर्ष 2022-23 की पदौन्नति को रिव्यू करते हुए रिक्त होने वाले पदों पर पदोन्नति करने की मांग की।

raajasthaan patavaar sangh ke padaadhikaariyon ne vibhinn samasyaon ke samaadhaan kee maang ko lekar nikaalee nyaay yaatra( aakrosh railee) nikaalee

 

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-