June 21, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Narhar Patwari and Naib Tehsildar of Mandrella arrested in bribery

रिश्वतखोरी में नरहड़ पटवारी और मंड्रेला का नायब तहसीलदार गिरफ्तार

रिश्वतखोरी में नरहड़ पटवारी और मंड्रेला का नायब तहसीलदार गिरफ्तार

Narhar Patwari and Naib Tehsildar of Mandrella arrested in bribery

Narhar Patwari and Naib Tehsildar of Mandrella arrested in bribery

 

रिश्वतखोरी में नरहड़ पटवारी और मंड्रेला का नायब तहसीलदार गिरफ्तार

सीमाज्ञान और खाता विभाजन की एवज में ली सात हजार रुपए की रिश्वत

झुंझुनूं में पिलानी ब्लॉक की मण्ड्रेला  उप तहसील के नायब तहसीलदार अर्जुन राम मीणा और नरहड़ गांव के हल्का पटवारी भवानी सिंह को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने बुधवार को  सात हजार रुपए की रिश्वत के मामले में गिरफ्तार किया है।। जमीन की नपाई और खाता विभाजन के लिए यह रिश्वत ली जा रही थी।एसीबी ने हल्का पटवारी भवानी सिंह को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। वहीं मंड्रेला के नायब तहसीलदार अर्जुनराम को प्रकरण में संलिप्तता के आधार पर गिरफ्तार किया है।

एसीबी झुंझुनूं के एएसपी इस्माइल खान ने बताया कि पावडिय़ा की ढाणी (नरहड़) निवासी रणवीरसिंह ने एसीबी में परिवाद दिया। उसने बताया कि उसकी जमीन के सीमा ज्ञान और खाता विभाजन के लिए पटवारी कंवरपुरा निवासी भवानीसिंह उसे परेशान कर रहा है। वह काम के लिए 15 हजार रुपए की मांग कर रहा है।

 

एसीबी ने परिवाद दर्ज कर परिवादी को रिश्वत कम करने के लिए मोलभाव करने के लिए कहा। इस पर पटवारी ने परिवादी से उसके हिस्से की जमीन के सीमा ज्ञान और खाता विभाजन के लिए सात हजार रुपए में मामला तय कर लिया। इसके बाद बुधवार को एसीबी ने जाल बिछाया। परिवादी को रिश्वत की राशि के साथ नरहड़ आईटी सेंटर भेजा गया। वहां पटवारी ने रिश्वत की राशि ले ली। इशारा मिलने पर एसीबी ने पटवारी भवानीसिंह को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। उधर प्रकरण में संलिप्तता के आधार पर मंड्रेला नायब तहसीलदार अर्जुनराम को भी गिरफ्तार किया गया। एसीबी टीम में एएसपी खान, एसआई सुभाषचंद्र, हैड कांस्टेबल श्योपाल, कांस्टेबल, सुनील पायल, अली हुसैन, त्रिलोक सिंह, इसाक मोहम्मद, कुमार शानू, मनोज जांगिड़ शामिल थे।

पटवारी बोला : पांच तो साब ही ले लेंगे

सीमा ज्ञान और खाता विभाजन के नाम पर ली गई रिश्वत की राशि नायब तहसीलदार और पटवारी के बीच बांटी जानी थी। एसीबी की प्रारंभिक पड़ताल में यह सामने आया है। जांच में सामने आया है कि परिवादी ने खाता विभाजन की बात की तो पटवारी ने 15 हजार रुपए बताए। इस पर खातेदार रणवीर ने केवल अपने हिस्से की जमीन की बात की तो सौदा सात हजार में तय हुआ। परिवादी से बातचीत में पटवारी ने कहा कि पांच हजार तो साब ही ले लेंगे।

आरोपियों के ठिकाने पर सर्च ऑपरेशन

नरहड़ में ट्रेप की कार्रवाई के दौरान ग्रामीणों का भी जमघट लग गया। पिलानी थाने से सुभाष लांबा के नेतृत्व में पुलिस जाब्ता तैनात रहा। पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार करने के बाद आईटी सेंटर में पूछताछ की गई। संलिप्तता सामने आने पर नायब तहसीलदार अर्जूनराम को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आरोपियों के ठिकानों पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया।

पटवारी भवानी सिंह
नायब तहसीलदार अर्जुनराम

रिश्वतखोरी में नरहड़ पटवारी और मंड्रेला का नायब तहसीलदार गिरफ्तार

सीमाज्ञान और खाता विभाजन की एवज में ली सात हजार रुपए की रिश्वत

झुंझुनूं में पिलानी ब्लॉक की मण्ड्रेला  उप तहसील के नायब तहसीलदार अर्जुन राम मीणा और नरहड़ गांव के हल्का पटवारी भवानी सिंह को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने बुधवार को  सात हजार रुपए की रिश्वत के मामले में गिरफ्तार किया है।। जमीन की नपाई और खाता विभाजन के लिए यह रिश्वत ली जा रही थी।एसीबी ने हल्का पटवारी भवानी सिंह को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। वहीं मंड्रेला के नायब तहसीलदार अर्जुनराम को प्रकरण में संलिप्तता के आधार पर गिरफ्तार किया है।

एसीबी झुंझुनूं के एएसपी इस्माइल खान ने बताया कि पावडिय़ा की ढाणी (नरहड़) निवासी रणवीरसिंह ने एसीबी में परिवाद दिया। उसने बताया कि उसकी जमीन के सीमा ज्ञान और खाता विभाजन के लिए पटवारी कंवरपुरा निवासी भवानीसिंह उसे परेशान कर रहा है। वह काम के लिए 15 हजार रुपए की मांग कर रहा है।

 

एसीबी ने परिवाद दर्ज कर परिवादी को रिश्वत कम करने के लिए मोलभाव करने के लिए कहा। इस पर पटवारी ने परिवादी से उसके हिस्से की जमीन के सीमा ज्ञान और खाता विभाजन के लिए सात हजार रुपए में मामला तय कर लिया। इसके बाद बुधवार को एसीबी ने जाल बिछाया। परिवादी को रिश्वत की राशि के साथ नरहड़ आईटी सेंटर भेजा गया। वहां पटवारी ने रिश्वत की राशि ले ली। इशारा मिलने पर एसीबी ने पटवारी भवानीसिंह को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। उधर प्रकरण में संलिप्तता के आधार पर मंड्रेला नायब तहसीलदार अर्जुनराम को भी गिरफ्तार किया गया। एसीबी टीम में एएसपी खान, एसआई सुभाषचंद्र, हैड कांस्टेबल श्योपाल, कांस्टेबल, सुनील पायल, अली हुसैन, त्रिलोक सिंह, इसाक मोहम्मद, कुमार शानू, मनोज जांगिड़ शामिल थे।

पटवारी बोला : पांच तो साब ही ले लेंगे

सीमा ज्ञान और खाता विभाजन के नाम पर ली गई रिश्वत की राशि नायब तहसीलदार और पटवारी के बीच बांटी जानी थी। एसीबी की प्रारंभिक पड़ताल में यह सामने आया है। जांच में सामने आया है कि परिवादी ने खाता विभाजन की बात की तो पटवारी ने 15 हजार रुपए बताए। इस पर खातेदार रणवीर ने केवल अपने हिस्से की जमीन की बात की तो सौदा सात हजार में तय हुआ। परिवादी से बातचीत में पटवारी ने कहा कि पांच हजार तो साब ही ले लेंगे।

आरोपियों के ठिकाने पर सर्च ऑपरेशन

नरहड़ में ट्रेप की कार्रवाई के दौरान ग्रामीणों का भी जमघट लग गया। पिलानी थाने से सुभाष लांबा के नेतृत्व में पुलिस जाब्ता तैनात रहा। पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार करने के बाद आईटी सेंटर में पूछताछ की गई। संलिप्तता सामने आने पर नायब तहसीलदार अर्जूनराम को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आरोपियों के ठिकानों पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया।

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-