June 13, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Tributes paid to Babasaheb Ambedkar on his death anniversary in Lalpur

Tributes paid to Babasaheb Ambedkar on his death anniversary in Lalpur

लालपुर में बाबा साहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि पर दी श्रधांजलि

लालपुर में बाबा साहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि पर दी श्रधांजलि

Tributes paid to Babasaheb Ambedkar on his death anniversary in Lalpur
Tributes paid to Babasaheb Ambedkar on his death anniversary in Lalpur
Tributes paid to Babasaheb Ambedkar on his death anniversary in Lalpur

 

लालपुर में बाबा साहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि पर दी श्रधांजलि

भारतीय संविधान के निर्माता डॉ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी के ‘महापरिनिर्वाण दिवस’ पर

लालपुर भारतीय संविधान के निर्माता डॉ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी के ‘महापरिनिर्वाण दिवस’  पुण्यतिथि पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लालपुर में श्रधांजलि सभा का आयोजन किया।

सभा मे वक्ताओं ने बाबा साहेब अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस सभी से उनके बताए पदचिन्हों पर चलने की बात कही।बाबा साहेब ने आज ही के दिन 6 दिसंबर 1956 को अंतिम सांस ली थी।

इस दिन को ‘महापरिनिर्वाणदिवस’ के रूप में मनाया जाता है। इस साल 66 वां महापरिनिर्वाण दिवस मनाया गया।

सभी ग्रांमवासियों से अधिकाधिक संख्या में कार्यक्रम में शिरकत कर,बाबा साहेब को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर माननीय संरपच रूकमणी देवी, इकबाल लालपुरिया,पूर्व सरपंच सतपाल,कैप्टन सुभाष खीचड़,हारुन(कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष),बुधराम गर्वा ,अमरसिंह सरावग, राजेश जांगिड़ ,ब्रजलाल टांक,मुकेश लालपुरिया, मनोज टांक,मुकेश टांक, अजय कुमार
आदि मौजूद थे।

 

🇮🇳ग्रांम पंचायत-लालपुर🇮🇳

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लालपुर

भारतीय संविधान के निर्माता डॉ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी के ‘महापरिनिर्वाण दिवस’ पर उन्हें मेरा कोटि–कोटि प्रणाम।
बाबा साहब ने सभी के लिए न्याय और समानता सुनिश्चित करते हुए एक समतावादी समाज बनाने की दिशा में काम किया।
मातृभूमि के लिए उनके अमूल्य योगदान को शत् शत् नमन। #Mandrellanews

भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की आज 65वीं पुण्यतिथि है। इस दिन को महापरिनिर्वाण दिवस के तौर पर मनाया जाता है। बाबासाहेब आंबेडकर का निधन छह दिसंबर, 1956 को नई दिल्ली में हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महापरिनिर्वाण दिवस पर बाबा साहेब आंबेडकर को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी।

प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्वीट किया, “महापरिनिर्वाण दिवस पर मैं डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और हमारे राष्ट्र के लिए उनकी अनुकरणीय सेवा को याद करता हूं। उनके संघर्षों ने लाखों लोगों को उम्मीद दी। भारत को इतना व्यापक संविधान देने के उनके प्रयासों को कभी भुलाया नहीं जा सकता।” राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बाबासाहेब डॉ. बी.आर. अम्बेडकर को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर संसद भवन परिसर में उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़म प्रधानमंत्री मोदी, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला भी मौजूद रहे।

संविधान निर्माता और भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर (Bhim Rao Ambedkar) का महापरिनिर्वाण दिवस है. इस मौके पर तमाम नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विट कर महापरिनिर्वाण दिवस पर डॉ बाबासाहेब अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की. राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, ओम बिरला, राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, योगी आदित्यनाथ समेत तमाम नेताओं ने उन्हें याद किया. संसद भवन में भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया.

भीमराव आंबेडकर को एक कानून के विशेषज्ञ, अर्थशास्त्र के ज्ञाता, संविधान निर्माता के अलावा उन्हें दलितों का उद्धार करने वाला मसीहा माना जाता है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “हम सब, सबसे पहले और अंत में, समान हैं. हम सब, सबसे पहले और अंत में, भारतीय हैं. इसके अलावा कुछ भी बाबासाहेब के लिए अस्वीकार्य था और उनके संवैधानिक मार्ग पर चलने वाले हम लोगों के लिए अस्वीकार्य है. उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि.

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने भी लखनऊ में अंबेडकर को उनकी पुण्यतिथि पर पुष्पांजलि अर्पित की. इसके साथ ही उन्होंने पार्टी के संस्थापक कांशीराम को भी श्रद्धांजलि दी. उन्होंने ट्विट किया कि देश को पूर्ण जनहितैषी, कल्याणकारी और समतामूलक संविधान देकर धन्य करने वाले परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर को उनके परिनिर्वाण दिवस पर शत्-शत् नमन. उन्होंने हर मामले में बेहतरीन संविधान देकर भारत का नाम देश-दुनिया में रौशन किया है. देश उनका सदा आभारी रहेगा.

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-