July 17, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

The dead body was cut with a marble cutter, the engineer killed Tai with a hammer, cut the dead body into ten pieces and threw it in the forest

The dead body was cut with a marble cutter, the engineer killed Tai with a hammer, cut the dead body into ten pieces and threw it in the forest

श्रद्धा हत्याकांड की तरह जयपुर में वारदात-मार्बल कटर से काटा शवइंजीनियर ने ताई की हथौड़े से की हत्या, शव के दस  टुकडे़ कर जंगल में फेंके

मार्बल कटर से काटा शवइंजीनियर ने ताई की हथौड़े से की हत्या, शव के दस  टुकडे़ कर जंगल में फेंके

The dead body was cut with a marble cutter, the engineer killed Tai with a hammer, cut the dead body into ten pieces and threw it in the forest

 

The dead body was cut with a marble cutter, the engineer killed Tai with a hammer, cut the dead body into ten pieces and threw it in the forest
The dead body was cut with a marble cutter, the engineer killed Tai with a hammer, cut the dead body into ten pieces and threw it in the forest

 

 

विद्याधर नगर के सेक्टर-2 जयपुर में 11 दिसंबर को हुई थी वारदात, आरोपी गिरफ्तार

श्रद्धा हत्याकांड की तरह जयपुर में वारदात: मार्बल कटर से काटा शवइंजीनियर ने ताई की हथौड़े से की हत्या, शव के दस  टुकडे़ कर जंगल में फेंके

विद्याधर नगर के सेक्टर-2 जयपुर में 11 दिसंबर को हुई थी वारदात, आरोपी गिरफ्तार

जयपुर देश की राजधानी दिल्ली में श्रद्धा हत्याकांड का मामला अभी थमा भी नहीं कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में श्रद्धा मर्डर जैसा वीभत्स हत्याकांड सामने आया है दिलदहला देने वाली इस घटना  में एक युवक ने अधेड़ महिला को हथौड़े मारकर हत्या कर दी और शव को टुकड़े बनाकर जंगलों में फेंक दिया. हत्यारा बाजार से मार्बल कटर लेकर आया और बड़ी तसल्ली से शव को अलग-अलग टुकड़ों में काटा और फिर जंगलों में डाल आया।विद्याधर नगर के सेक्टर-2 जयपुर में 11 दिसंबर को  एक 33 वर्षीय इंजीनियर ने दिल्ली जाने से रोकने पर तैश में आकर अपनी ताई सरोज देवी (65) के सिर पर हथौड़ा मार कर हत्या कर दी। इसके बाद मार्बल कटर से शव के दस टुकड़े कर दिए। टुकडों को ट्रॉली बैग में भर दिल्ली रोड पर चार अलग-अलग जगह पर फेंककर मिट्टी डाल दी। हत्याकांड के पांच दिन बाद पुलिस ने मामले का खुलासा कर तीन जगह से आठ टुकडों को बरामद कर लिया है। पुलिस शव के शेष दो टुकड़ों की तलाश कर रही है। मृतका की बेटी की रिपोर्ट पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दिल्ली सतसंग में जाने से रोका तो  तैश में आकर अपनी मृतका ताई सरोज देवी (65) के सिर पर हथौड़ा मार कर हत्या कर दी आरोपी अनुज शर्मा उर्फ गोविंदा ने

परिस देशमुख ने बताया कि विद्याधर नगर इलाके के एक कंप्यूटर इंजीनियर ने दिल्ली के श्रद्धा हत्याकांड की तरह हथौड़े से सिर पर वार कर अपनी ताई की हत्या की फिर मार्बल काटने वाले कटर से शव के दस टुकड़े कर दिए सूटकेस और बाल्टी में भरकर जयपुर से 12 किमी दूर दिल्ली रोड पर चार जगह टुकड़े फेंके हत्या के 5 दिन बाद पुलिस ने आरोपी गिरफ्तार कर लिया तीन जगह से शव के टुकड़े 8 बरामद कर लिए दो टुकड़े एक नाली में फेंकने की बात कही है यह भी नहीं मिले आरोपी को कोर्ट ने 3 दिन के रिमांड पर भेज दिया है डीसीपी नॉर्थ परिस देशमुख ने बताया कि आरोपी अनुज शर्मा उर्फ गोविंदा आनंद नगर स्थित विकासपुरी अजमेर का रहने वाला है अभी विद्याधर नगर के सेक्टर दो स्थित लालपुरिया अपार्टमेंट में रहता है ताई सरोज शर्मा 65 भी साथ रहती है 11 दिसंबर को लड़का देखने उनके पिता और बहन इंदौर गए थे इसी दौरान अनुज ने सरोज से कीर्तन में दिल्ली जाने के लिए कहा तो उन्होंने मना कर दिया इस पर दोनों झगड़ा हुआ अनुज ने हत्या कर दी सरोज के दो बेटियां हैं दोनों की शादी हो चुकी है इंजीनियर बेटा अमित पत्नी के साथ कनाडा में रहता है पति का निधन हो चुका है इसलिए अजमेर में अकेली रह रही थी क्रोनाकाल में अनुज की मां का निधन हुआ सरोज को कैंसर है इसलिए अनुज के पिता बद्री प्रसाद उन्हें जयपुर ले आए तब से वह बद्री प्रसाद के बेटे अनुज और बेटी के साथ रह रही थी अनुज ने कंप्यूटर इंजीनियर की पढ़ाई के बाद 1 साल निजी कंपनी में जॉब की 2013 में वह श्री कृष्णा से जुड़ी संस्था से दीक्षा लेकर एक ग्रुप से जुड़ गया तब से दिल्ली हरिद्वार के कार्यक्रम में जाता था 11 दिसंबर सुबह 11:00 बजे अनुज को दिल्ली जाने के लिए ताई सरोज ने मना किया इसी दौरान झगड़ा हुआ करीब 11:00 बजे सरोज किचन में काम कर रही थी अनुज ने हथोड़े से सिर में मार कर हत्या कर दी और शव बाथरूम में पटका नेशनल हैंडलूम जाकर चाकू लाया हड्डियां नहीं कटी तो दोबारा सीकर रोड हार्डवेयर की दुकान पर गया यहां से 15 सो रुपए में ग्लाइंडर लेकर आया शव के 10 टुकड़े किए गर्दन धड़ पर सहित अन्य हिसो को काटा प्लास्टिक से पैक कर दो बाल्टी और सूटकेस और बाकी हिसा को दो बाल्टी में डाल लिया शाम 3/50 बजे सूटकेस और बाल्टिया को अपने कार में रखकर गूगल मैप पर दिल्ली रोड की लोकेशन लगा कर रवाना हो गया जंगल में एक फार्म हाउस वन चौकी और दो अन्य जगह शव के टुकड़े डाल कर उनको मिट्टी डाल दी इसके बाद रात करीब 8:00 बजे वापस घर पहुंचा धोती पर खून के धब्बे थे रास्ते में ट्राउजर खरीद कर बदला पड़ोसियों ने कहां ताई कहां गई अनुज गुम होने की बात कही पड़ोसियों के कहने पर रात 9:00 गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई कहां ताई कैंसर पेशेंट है डिप्रेशन में रहती है।पुलिस ने रिपोर्ट के आधार पर जांच शुरू की. लेकिन कहीं पर सरोज के न मिलने पर पुलिस को अनुज पर ही शक हुआ. उसके बाद उससे ही जाँच-पड़ताल शुरू हुई. इस बीच पुलिस ने सरोज देवी की बेटियों पूजा शर्मा (38) और मोनिका को भी बुलाकर पूछताछ की. इसमें बेटियों ने चचेरे भाई अनुज पर शक जताया. इस पर पुलिस ने अनुज से कड़ाई से पूछताछ की. इसमें उसने पुलिस को हत्या की पूरी कहानी बता दी.

मृतका की बेटी ने देखा खून,बुलाया पुलिस को

वारदात के दौरान रसोई व बाथरूम में कई जगह खून के धब्बे रह गए थे। आरोपी समय-समय पर उन्हें साफ करता रहा। 12 दिसम्बर को मृतका की बेटी मोनिका ने उसे रसोई से खून के धब्बे हटाते देख लिया। मोनिका ने पूछा तो बोला मुझे नकसीर आ गई थी। मोनिका ने यह बात कांस्टेबल देवीलाल को बताई। उसने मौके पर पहुंच कर सीसीटीवी कैमरा खंगाले। इस दौरान अनुज कुछ काम होने की बात कहकर हरिद्वार के लिए निकल गया। वह हरिद्वार से दिल्ली पहुंच गया। परिजन खुद कार लेकर दिल्ली गए और अनुज को साथ लेकर आए। जयपुर पहुंचते ही पुलिस उसे थाने ले आई। पूछताछ में आरोपी ने हत्या की बात कबूल कर ली।

इंदौर गए हुए थे पिता और बहन

एडीसीपी धर्मेंद्र सागर ने बताया कि आरोपी के पिता व बहन 11 दिसंबर को इंदौर गए हुए थे। इंदौर में बहन के रिश्ते की बात चल रही है। इस दौरान अनुज ने ताई सरोज से दिल्ली जाने के लिए कहा तो उन्होंने मना कर दिया। इसको लेकर दोनों में बहस हो गई। सरोज दोपहर में रसोई में काम कर रही थी। इस दौरान अनुज ने उसके सिर पर हथौड़े से वार कर दिया। सरोज घायल हो कर वह गिर गई। आरोपी ने लगातार उनके सिर पर चार-पांच वार और किए, जिससे सरोज की मौत हो गई।

 

 

 

 

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-