February 26, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Tractor driven on standing mustard crop damaged by cold wave in Sari

सारी में शीतलहर से खराब सरसों की खड़ी फसल पर ट्रेक्टर चलाया

Tractor driven on standing mustard crop damaged by cold wave in Sari

सारी में शीतलहर से खराब सरसों की खड़ी फसल पर ट्रेक्टर चलाया

Tractor driven on standing mustard crop damaged by cold wave in Sari

 

बेमोसम के बाद किसानों कि फसल हुई नष्ट

चिड़ावा 

कड़ाके की सर्दी पड़ने व शीतलहर के बढ़ते प्रकोप के कारण लोगो को काफी मुस्किलो का सामना करना पड़ रहा है पाला पड़ने के कारण किसानों की रबी की फसलो को काफी नुकसान हुआ है।जिसमें सबसे ज्यादा खराबा सरसों और सब्जियों की फसलों में हुआ। किसानों की माने तो दोनों फसलों में 90 प्रतिशत से ज्यादा खराबा हुआ है। ऐसे में बहुत से किसानों ने खेतों खड़ी फसलों को नष्ट करवाना शुरू कर दिया। जिसका असर झुंझुनूं जिले के विभिन्न क्षेत्रों मे देखने को मिला शुक्रवार को चिडावा के सारी गाँव मे किसान ने पाले से चौपट हुई सरसों की फसल पर दुखी होकर अपना ट्रेक्टर चला कर नष्ट कर दिया

सारी गाँव के किसान धर्मवीर पचार ने बताया कि आठ बीघा खेत मे सरसो की बुवाई कर अगेईति फसल तैयार की थी परन्तु कड़ाके की ठंड व पाला जमने के कारण पूरी खराब हो गई जिस पर बारह हजार का खर्च आया था और एक लाख से अधिक रुपए की आमदनी की उम्मीद लगाई थी जिसमे नुकसान की वजह से ट्रेक्टर चलाकर पूरी तरह नष्ट कर दिया वही किसान मनोज पचार व सरजीत ओला ने बताया की दस बीघा में सरसों की फसल उगा रखी थी।

जिस पर करीब दस हजार रुपए खर्च हो गए।

मगर गत दिनों पड़ी तेज सर्दी से सरसों की पूरी फसल चौपट हो गई।

उन्होंने बताया कि अगेती सरसों में शत प्रतिशत खराबा हुआ है।

फलियों में पक रहे दाने शीतलहर की चपेट में आ गए। उन्होंने बताया कि फसल में खराबा होने के कारण मजबूरी में ट्रेक्टर से नष्ट करवाना पड़ा।

उन्होंने बताया कि फसल पककर तैयार होती तो करीब एक-डेढ़ लाख रुपए की आमदनी होती।

सरसो के साथ साथ चना मेथीं और सब्जी की फसलो मे नुकसान हुआ है आसपास के क्षेत्रों मे भी पाला जमने से हुए नुकसान के समाचार सामने आ रहे है

किसानो ने सरकार से जल्द से जल्द फसलो की गिरदावरी करवा मुआवजे की मांग की ।

इस दौरान किसान सरजीत ओला, हितेश पचार,घीसाराम , दोदराम बराला , जिलेसिंह , महेंद्र बराला ,मूलचंद , जयप्रकाश , राजेन्द्र , प्रदीप , सुरेश कुमार , अमिलाल कुमावत सुनील , कुलदीप जाँगीड , कर्मवीर पचार , नरेश पचार,डॉ.जयप्रकाश, सुरेश पचार, मुकेश कुमार, आदि ने मुआवजा की मांग की।।

Tractor driven on standing mustard crop damaged by cold wave in Sari

कड़ाके की सर्दी पड़ने व शीतलहर के बढ़ते प्रकोप के कारण लोगो को काफी मुस्किलो का सामना करना पड़ रहा है पाला पड़ने के कारण किसानों की रबी की फसलो को काफी नुकसान हुआ है।जिसमें सबसे ज्यादा खराबा सरसों और सब्जियों की फसलों में हुआ। किसानों की माने तो दोनों फसलों में 90 प्रतिशत से ज्यादा खराबा हुआ है। ऐसे में बहुत से किसानों ने खेतों खड़ी फसलों को नष्ट करवाना शुरू कर दिया। जिसका असर झुंझुनूं जिले के विभिन्न क्षेत्रों मे देखने को मिला शुक्रवार को चिडावा के सारी गाँव मे किसान ने पाले से चौपट हुई सरसों की फसल पर दुखी होकर अपना ट्रेक्टर चला कर नष्ट कर दिया

सारी गाँव के किसान धर्मवीर पचार ने बताया कि आठ बीघा खेत मे सरसो की बुवाई कर अगेईति फसल तैयार की थी परन्तु कड़ाके की ठंड व पाला जमने के कारण पूरी खराब हो गई जिस पर बारह हजार का खर्च आया था और एक लाख से अधिक रुपए की आमदनी की उम्मीद लगाई थी जिसमे नुकसान की वजह से ट्रेक्टर चलाकर पूरी तरह नष्ट कर दिया वही किसान मनोज पचार व सरजीत ओला ने बताया की दस बीघा में सरसों की फसल उगा रखी थी।

जिस पर करीब दस हजार रुपए खर्च हो गए।

मगर गत दिनों पड़ी तेज सर्दी से सरसों की पूरी फसल चौपट हो गई।

उन्होंने बताया कि अगेती सरसों में शत प्रतिशत खराबा हुआ है।

फलियों में पक रहे दाने शीतलहर की चपेट में आ गए। उन्होंने बताया कि फसल में खराबा होने के कारण मजबूरी में ट्रेक्टर से नष्ट करवाना पड़ा।

उन्होंने बताया कि फसल पककर तैयार होती तो करीब एक-डेढ़ लाख रुपए की आमदनी होती।

सरसो के साथ साथ चना मेथीं और सब्जी की फसलो मे नुकसान हुआ है आसपास के क्षेत्रों मे भी पाला जमने से हुए नुकसान के समाचार सामने आ रहे है

किसानो ने सरकार से जल्द से जल्द फसलो की गिरदावरी करवा मुआवजे की मांग की ।

इस दौरान किसान सरजीत ओला, हितेश पचार,घीसाराम , दोदराम बराला , जिलेसिंह , महेंद्र बराला ,मूलचंद , जयप्रकाश , राजेन्द्र , प्रदीप , सुरेश कुमार , अमिलाल कुमावत सुनील , कुलदीप जाँगीड , कर्मवीर पचार , नरेश पचार,डॉ.जयप्रकाश, सुरेश पचार, मुकेश कुमार, आदि ने मुआवजा की मांग की।।

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-