July 21, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Accused of cheating by opening fake chit fund company in Chirawa city arrested from Maharashtra after 15 years

चिड़ावा शहर में फर्जी चिटफंड कंपनी खोलकर ठगी करने का आरोपी 15 साल बाद महाराष्ट्र से गिरफ्तार

Accused of cheating by opening fake chit fund company in Chirawa city arrested from Maharashtra after 15 years

Accused of cheating by opening fake chit fund company in Chirawa city arrested from Maharashtra after 15 years

Accused of cheating by opening fake chit fund company in Chirawa city arrested from Maharashtra after 15 years

 

Accused of cheating by opening fake chit fund company in Chirawa city arrested from Maharashtra after 15 years

चिड़ावा शहर में फर्जी चिटफंड कंपनी खोलकर ठगी करने का आरोपी 15 साल बाद महाराष्ट्र से गिरफ्तार

चिड़ावा शहर में फर्जी चिटफंड कंपनी खोलकर लोगों को मोटा मुनाफा कमाने का झांसा देकर लाखों की ठगी करने का आरोपी 15 साल बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है ।

थानाधिकारी विनोद सामरिया ने बताया कि शह खेतड़ी रोड पर चिड़ावा निवासी कमलकांत उर्फ कमल कुमार ने स्टार राइज राइटिंग प्राइवेट लिमिटेड नाम से कंपनी खोली थी। जिसके खिलाफ 3 दिसंबर 2000 में चिड़ावा निवासी परिवादी मोहनलाल ने रिपोर्ट दी। जिसमें बताया कि कमलकांत उर्फ कमल कुमार ने कंपनी में सदस्य बनने के लिए परिवादी से संपर्क किया। पीड़ित मोहनलाल ने कंपनी के रजिस्ट्रेशन प्रगाण पत्र और कमलकांत के व्यवहार को देखते हुए सदस्य बनने के लिए 52 हजार 500 रुपए जमा करवा दिए आरोपी ने मोहनलाल को झांसा दिया कि कंपनी जैसे-जैसे लाभ कमाएगी, वैसे-वैसे परिवादी को राशि का भुगतान परिलाभ के साथ कर दिया जाएगा। बकाया राशि और परिलाभ के रूप में 18 हजार 929 रुपए का चेक भी जारी किया। जिसे 22 अगस्त 2009 को बैंक के खाते में जमा करवाया तो बैंक अधिकारी ने परिवादी को उक्त चैक का भुगतान नहीं करने के लिए कहा और बताया कि चैक देने वाले ने खाते को फर्जी बताया है। इसलिए भुगतान नहीं होगा। जिसके बाद परिवादी ने थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया। जांच में सामने आया कि आरोपी कमलकांत उर्फ कमल कुमार ने मोटा मुनाफा देने का झांसा देकर लोगों से ठगी करके कंपनी को बंद कर दिया। जिसके खिलाफ मामले दर्ज होते उससे पहले ही कमलकांत फरार हो गया। बाद में पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू की। जो कि लगातार जगह बदलकर फरारी काटता रहा। आरोपी के खिलाफ कोर्ट ने स्थाई वारट भी जारी किए। इस बीच पुलिस को इतला मिली कि ठगी का आरोपी कमलकांत उर्फ कमल कुमार ड्रीम सिटी बोईसर, पालघर (महाराष्ट्र) में फरारी काट रहा है। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

श्री राजर्षि राज आई.पी.एस. पुलिस अधीक्षक झुन्झुनू के निर्देशानुसार, श्री गिरधारी लाल शर्मा आर.पी.एस. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक झुन्झुनू के मार्गदर्शन व श्री शिवरतन गोदारा आर.पी.एस. वृताधिकरी, वृत चिडावा व श्री विनोद सामरिया पु.नि. थानाधिकारी चिड़ावा के निकट सुपरविजन के निकट सुपरविजन में 100 दिवसीय कार्ययोजना मे आदतन, टॉप-10, फरार, ईनामी एंव वांछित अपराधियो के विरुद्ध चलाये गये अभियान मे

कार्यवाही हेतू विशेष टीम का गठन किया गया। गठित टीम द्वारा कार्यवाही करते कस्बा चिड़ावामे फर्जी कंपनी खोलकर ठगी करने वाले 15 साल से फरार चल रहे Star Rise Rrting Pvt के मालिक कमल कांत उर्फ कमल कुमार को दिनांक 03.03.2024 को बोईसर जिला पालघर महाराष्ट्र से गिरफतार किया गया।

घटना विवरण- दिनांक 03.12.2009 को परिवादी श्री मोहनलाल निवासी चिड़ावा ने रिपोर्ट दी कि कमल कुमार ने कस्बा चिड़ावा में खेतड़ी रोड़ पर गोल माकेर्ट में Star Rise Rrting Pvt Ltd खोल रखी है। कमल कुमार ने अपनी उक्त कम्पनी में सदस्य बनाने के लिये परिवादी से सर्पक किया तथा अभियुक्त कमल कुमार ने परिवादी को अपनी कम्पनी में सदस्य बनाने के लिये उत्प्ररित किया। परिवादी को यह कहा कि कम्पनी में जैसे जैसे लाभ कमायेगी वैसे वैसे परिवादी को राशि का भुगतान मय परिलाभ कर देगा। परिवादी ने अभियुक्तगण से व्यवहार तथा कम्पनी के पंजीकरण का प्रमाण पत्र देखकर अभियुक्त की कम्पनी में सदस्य बनने के लिये 52 हजार 500 रूपये जमा करवाये। अभियुक्त ने बकाया राशि तथा परिलाभ के रूप में एक चैक राशि 18929 रूपये का जारी किया। उक्त चैक परिवादी ने दिनांक 22.8.09 को अपने बैंक के समक्ष भुगतान प्राप्त करने के लिये अपने खाते में जमा करवाया। इसके बाद बैंक अधिकारी से सम्पर्क किया तब बैंक अधिकारी ने परिवादी को उक्त चैक का भुगतान नही करने के लिये कहा तथा यह भी कहा कि चैक प्रदाता ने खाता को फर्जी कर दिया है। अभियुक्त ने परिवादी के साथ छल कपट किया है आदि इस्तगासा पर अ0सं0 429/09 धारा 420.406 भादसं में पंजीबद्ध कर अनुसंधान शुरू किया गया।

पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही- प्रकरण मे परिवादी से अनुसंधान किया जाकर रिकार्ड प्राप्त किया गया। आरोपी कमल कुमार उर्फ कमलकांत ने कस्बा चिड़ावा गोल मार्केट मे कंपनी खोल रखी थी जिसमे अपने परिवार वालो व अन्य साथियो के साथ मिलकर लोगो को अपनी फर्जी कंपनी मे सदस्य बनाकर लाभ का लालच देकर ठगी करके कपंनी बंद कर फरार हो गया। जिसके खिलाफ थाना चिडावा पर अभियोग संख्या 32/10, 152/12, 309/12, 389/12, 390/2 धारा 420,406,120बी भादस व ईनामी चिट फंड मे प्रकरण दर्ज किये गये। आरोपी कमल कुमार उर्फ कमलंकात अपने अन्य साथियो के साथ प्रकरण दर्ज होने से पूर्व ही कपंनी बंद कर भाग गये जिनके खिलाफ धारा 299 सीआरपीसी मे चालानी आदेश प्राप्त किये जाकर तलाश शुरू की गई। गठित टीम द्वारा वांरटी की तलाश कस्बा चिड़ावा, जयपुर, सूरत, वापी में की गई। दौराने तलाश टीम मे लगे श्री अमित सिहाग कानि 759 आसूचना अधिकारी थाना चिड़ावा को सूचना मिली कि कमल कुमार उर्फ कमलकात ड्रीम सीटी बोईसर महाराष्ट्र मे है जिस पर टीम द्वारा तकनीकी साक्ष्यो की मदद से दिनांक 03.03.2024 को कमल कांत उर्फ कमल कुमार को बोईसर जिला पालघर महाराष्ट्र से डिटेन किया जाकर बाद पूछताछ गिरफतार किया गया। उक्त आरोपी के खिलाफ फर्जी कंपनी खोलकर ठगी करने के थाना हाजा पर अलग अलग 06 प्रकरण दर्ज है जिनमे 299 सीआरपीसी मे फरार चल रहा था तथा उक्त प्रकरणो के अलावा माननीय एमजेएम कोर्ट चिड़ावा से जारी स्थाई वारंट उम्मेद सिंह बनाम कमल कोर्ट केस न 51/10 धारा 138 एनआई एक्ट, कमला बनाम कमल कोर्ट केस न 52/10 धारा 138 एनआई

गाठत टीम द्वारा वारटा की तलाश कस्बा चिड़ावा, जयपुर, सूरत, वापा में की गई। दौराने तलाश टीम में लगे श्री अमित सिहाग कानि 759 आसूचना अधिकारी थाना चिड़ावा को सूचना मिली कि कमल कुमार उर्फ कमलकात ड्रीम सीटी बोईसर महाराष्ट्र मे है जिस पर टीम द्वारा तकनीकी साक्ष्यो की मदद से दिनांक 03.03.2024 को कमल कांत उर्फ कमल कुमार को बोईसर जिला पालघर महाराष्ट्र से डिटेन किया जाकर बाद पूछताछ गिरफतार किया गया। उक्त आरोपी के खिलाफ फर्जी कंपनी खोलकर ठगी करने के थाना हाजा पर अलग अलग 06 प्रकरण दर्ज है जिनमे 299 सीआरपीसी मे फरार चल रहा था तथा उक्त प्रकरणो के अलावा माननीय एमजेएम कोर्ट चिड़ावा से जारी स्थाई वारंट उम्मेद सिंह बनाम कमल कोर्ट केस न 51/10 धारा 138 एनआई एक्ट, कमला बनाम कमल कोर्ट केस न 52/10 धारा 138 एनआई

एक्ट, दयानंद बनाम कमल कोर्ट केस न 73/11 धारा 138 एनआई एक्ट, दयानंद बनाम कमल कोर्ट केस न 74/1 धारा 138 एनआई एक्ट कुल 04 स्थाई वारंटो मे इस प्रकार कुल अलग अलग 10 मामलो मे 15 सालो से फरार चल रहा था। आरोपी को आज दिनांक 04.03.2024 को माननीय न्यायालय मे पेश किया जावेगा। आरोपी से गहन अनुसंधान जारी है।

गठित टीम-

1 श्री विनोद सामरिया पु०नि० थानाधिकारी पुलिस थाना चिड़ावा।

2 श्री संदीप कुमार एचसी 2544 पुलिस थाना चिड़ावा।

3 श्री मोहन भूरिया एचसी 2402 पुलिस थाना चिड़ावा।

4 श्री अमित सिहाग कानि 759 आसूचना अधिकारी पुलिस थाना चिड़ावा।

5 श्री संदीप गांधी कानि 345 पुलिस थाना चिड़ावा।

6 श्री अंकित कुमार कानि 522 पुलिस थाना चिड़ावा।

7 श्री प्रकाश कानि 1363 पुलिस थाना चिड़ावा ।

विशेष योगदान- श्री अमित सिहाग कानि 759 आसूचना अधिकारी थाना चिड़ावा

गिरफतार शुदा आरोपी कमल कांत उर्फ कमल कुमार पुत्र किशनलाल उम्र 48 साल जाति ब्राहमण निवासी पॉवर हाउस के पिछे चिड़ावा हाल फलैट न 204 बिल्डिंग न 01 सेक्टर नम्बर 08 ड्रीम सीटी बाईसर ईस्ट 401501 जिला पालघर महाराष्ट्र

 

जयपुर, वापी में काटी फरारी-

आरोपी कमलकांत उर्फ कमल कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी के छह समेत कुल दस प्रकरण दर्ज हैं। जिसने फर्जी कंपनी खोलकर लोगों से लाखों की ठगी की। जिसकी पुलिस ने चिड़ावा, जयपुर, सूरत, वापी समेत अन्य जगहों पर तलाश की। जोकि आखिरकार महाराष्ट्र में मिला। पुलिस टीम में धानाधिकारी विनोद सामरिया, हैड कांस्टेबल संदीप कुमार, मोहन भूरिया, आसूचना अधिकारी अमित सिहाग, संदीप गांधी, अंकित कुमार, प्रकाश आदि शामिल थे।

 

 

 

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-