April 18, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

Meghwal community of Narhar took a unique initiative

Meghwal community of Narhar took a unique initiative

नरहड़ के मेघवाल समाज ने की अनूठी पहल

नरहड़ के मेघवाल समाज ने की अनूठी पहल

Meghwal community of Narhar took a unique initiative

 

नरहड़ के मेघवाल समाज ने की अनूठी पहल Meghwal community of Narhar took a unique initiative

नरहड़ के मेघवाल समाज ने की अनूठी पहल

नरहड़ के एक परिवार ने रूढ़िवादी परंपराओ को तोड़ते हुए अपनी बेटियों की शादी की रस्मों को वैसे ही निभाया जैसे बेटे की निभाई जाती है दुल्हन के ताऊ शीशराम मेघवाल ने घोड़ी पर बिठाकर गाजे बाजे के साथ बिंदोरी निकाली और बेटे बेटी एक समान है का संदेश दिया ।
नरहड गांव के वार्ड चार में रहने वाले विनोद कठानिया ने समाज में फैली रूढ़िवादी परंपराओ को त्यागते हुए बेटी ज्योति व सीमा की बुधवार को होने वाली शादी से पहले उसके सारे रस्म रिवाज लडको की भांति किए ।विनोद कठानिया की पुत्रियों सीमा व ज्योति की शादी 14 फरवरी को है तथा साथ ही पुत्र रविंद्र की शादी 17 फरवरी को है । परिवार ने शादी में किसी भी प्रकार का। भेदभाव नही किया।
मंगलवार को ज्योति और सीमा तथा भाई रविंद्र के ताऊ शीशराम मेघवाल , मनफूल मेघवाल , प्रभुसिंह , बनवारी , महेंद्र मेघवाल ने तीनों की घोड़ी पर बैठाकर बैंड बाजे के साथ बिंदोरी निकाली । परिजनों ने नाच गाकर जश्न मनाया वही शादी में परिवार द्वारा निभाई जा रही रस्मों को देखकर गदगद नजर आ रही है दुल्हन ज्योति व सीमा ने बताया कि उनके परिवार में बेटियो को पूरा मान सम्मान मिलता है परिवार ने कभी भी उसके तथा भाईयो के बीच कोई भेदभाव नही किया उसकी शादी में लडको के जैसे ही पूरे रस्म रिवाज निभाए जा रहे है ।
समाज के बदलते परिवेश और शिक्षा के विकास के कारण अब रूढ़िवादी परंपराओ को जनता धीरे धीरे छोड़ रही है । जहां पहले बेटियो को समाज पर बोझ समझा जाता था वही अब जनजागरुकता के कारण जनता की सोच में बदलाव देखने को मिल रहा है ।

 

 

 

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-