June 14, 2024

News & jobs

देश विदेश के हिंदी समाचारों सहित नोकरी Jobs देखें।

In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika's group Sambal Samvad

In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika's group Sambal Samvad

मनरेगा में 50 फीसदी मेट महिलाएं बनेंगी,राजीविका के समूह संबल संवाद में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री रमेश चंद्र मीणा

मनरेगा में 50 फीसदी मेट महिलाएं बनेंगी,राजीविका के समूह संबल संवाद में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री रमेश चंद्र मीणा

In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika's group Sambal Samvad
In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika's group Sambal Samvad
In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika’s group Sambal Samvad

पिलानी विधायक जे.पी. चंदेलिया ने कहा कि महिला ही देश की शक्ति है। राजीविका ने महिलाओं की स्थिति को सुढृढ किया है

राजीविका के तहत 40 हजार रुपए तक का ऋण महज 48 घंटे में देने का प्लान -मंत्री रमेश मीणा
राजीविका के समूह संबल संवाद में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री ने किया संवाद।
मनरेगा में 50 फीसदी मेट महिलाएं बनेंगी
झुंझुनू प्रदेश के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री रमेश चंद्र मीणा ने मंगलवार को झुंझुनूं दौरे के दौरान शहीद पीरूसिंह राउमावि में राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद (राजीविका)की ओर से आयोजित समूह संबल संवाद व आमुखीकरण कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि राजीविका के तहत 40 हजार रुपए तक का ऋण महज 48 घंटे में देने का प्लान है। वहीं इससे अधिक राशि का ऋण 15 दिन में दिए जाने की योजना है।उन्होंने कहा कि महिलाएं स्वयं सहायता समूह के माध्यम से आर्थिक आत्मनिर्भर बने तथा अपनी क्षमताओं का उपयोग करते हुए स्वयं और समाज के विकास में भागीदार बने ।मीणा ने घोषणा करते हुए कहा कि राजीविका की सोशल ऑडिट भी महिलाओं की ओर से ही की जाएगी।राजीविका से जुड़ी महिलाएं सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार का कार्य भी करेंगी। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने कहा कि एसएचजी के लिए जिले में 424 ग्राम संगठन भवन बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि महिला स्वयं सहायता समूह के प्रशिक्षण एवं बैठको के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर भवनों का निर्माण करवाया जाएगा । उन्होंने महिलाओं को बताया कि वे अपनी रूचि के कार्यों के द्वारा अपनी आय को बढ़ा सकती हैं । वहीं अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपना खेत-अपना काम में भी गरीब महिलाओं को जोड़ा जाए।
मनरेगा में 50 फीसदी मेट महिलाएं बनेंगी

मीणा ने कहा कि राजीविका के तहत 40 हजार रुपए तक का ऋण महज 48 घंटे में देने का प्लान है। मनरेगा में 50 फीसदी मेट महिलाओं को बनाया जाएगा। एसएचजी के लिए जिले में 424 ग्राम संगठन भवन बनाए जाएंगे। कार्यशाला को परिवहन मंत्री विजेंद्र सिंह ओला, मुख्यमंत्री के सलाहकार डॉ. जितेंद्र सिंह व पिलानी विधायक जे.पी. चंदेलिया ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में जिला कलक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी ने कहा कि मिशन के तहत अब तक जिले में 16 करोड़ रुपए के ऋण वितरित किए जा चुके हैं। इस दौरान अतिथियों ने समूहों को चेक बांटे व स्टाल का अवलोकन किया। महिलाओं की समस्या सुनी। ओजटू की महिला ने पेयजल की किल्लत बताई। जिला परिषद सीईओ जवाहर चौधरी ने धन्यवाद दिया। संचालन भावना शर्मा ने किया।

यहां ममता नहीं आई, वहां मीणा नहीं गए

जिस समय स्कूल में महिला समूह का कार्यक्रम चल रहा था, उस समय महिला एवं बाल विकास तथा जिले की प्रभारी मंत्री ममता भूपेश सर्किट हाउस में थीं। लेकिन वे कार्यक्रम में नहीं आई। उनके विभाग के कई अधिकारी भी सर्किट हाउस में ही रहे। बाद में बीडीके में नर्सिंग कॉलेज के शिलान्यास कार्यक्रम में ममता भूपेश गई, लेकिन मंत्री रमेश मीणा नहीं गए। उस समय रमेश मीणा सर्किट हाउस में रहे।

वेवजह तूल दे रहे

एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि बीकानेर में ऐसा कुछ नहीं हुआ। वेवजह तूल दिया जा रहा है। झुंझुनूं में विकास कार्यों की गुणवत्ता में कमी सामने आई है। अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। सात दिन में रिपोर्ट मांगी है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है बीकानेर में कलक्टर को बाहर निकालने के दूसरे दिन आइएएस एसोसिएशन ने जयपुर में मुख्य सचिव उषा शर्मा से मिलकर अपनी बात रखी। मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा है।

बारीकी से देखी स्टॉल्स, दिए सुझाव
पंचायतीराज मंत्री रमेश मीणा और परिवहन मंत्री बृजेंद्र ओला ने राजीविका के तहत एसएचजी की ओर से लगाई गई स्टॉल्स का निरीक्षण किया और विभिन्न उत्पादों की जानकारी ली। आचार की स्टॉल्स पर मीणा ने सुझाव दिया कि पैकेजिंग बेहतर की जाए। बेहतर पैकेजिंग होगी, तो ऑनलाईन बिकने में आसानी रहेगी। उन्होंने नवाचार के लिए भी प्रेरित किया।
परिवहन मंत्री विजेंद्र सिंह ओला ने बताया कि राजीविका ने जिले की महिलाओं के लिए स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए हैं तथा शिक्षक महिलाओं से इस योजना से जुडऩे का आग्रह किया ।
मुख्यमंत्री सलाहकार डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया कि राजीविका गरीब महिलाओं के लिए एक वरदान है तथा उन्हें आर्थिक संभलता प्रदान कर रहा है।

पिलानी विधायक जे.पी. चंदेलिया ने कहा कि महिला ही देश की शक्ति है। राजीविका ने महिलाओं की स्थिति को सुढृढ किया है।
कार्यक्रम में जिला कलक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी ने स्वयं जिला प्रशासन के नवाचार ‘मिशन शी’ से जुडक़र महिलाओं ने अपना आर्थिक विकास किया है। मिशन के तहत अब तक जिले में 16 करोड़ रुपए के ऋण वितरित किए जा चुके हैं। कार्यक्रम के अंत में जिला परिषद सीईओ जवाहर चौधरी ने धन्यवाद दिया। संचालन भावना शर्मा ने किया। इस दौरान मंच पर झुंझुनूं प्रधान पुष्पा चाहर, नवलगढ़ प्रधान दिनेश सुंडा, भी मौजूद रहे।

लाभार्थियों ने साझा किए अपने अनुभव
कार्यक्रम में राजीविका के तहत ऋण लेकर स्वरोजगार करने वाली महिलाओं ने अपने अनुभव साझा किए। सिंघाना पंचायत के पुरानी भोदन गांव की प्रेमलता ने बताया कि राजीविका के जरिए वह हर महीने 20 हजार रुपए कमा रही है, वहीं उसके पति को भी ऋण लेकर ऑटो दिलवाया है, जिससे वे 30 हजार रुपए प्रतिमाह कमा रहे हैं। इस दौरान रश्मि, भूरासर की सुमन ने भी अपने अनुभव साझा किए।
विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक ली
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग मंत्री रमेश चंद्र मीणा ने मंगलवार को जिला परिषद झुंझुनू में विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक ली । बैठक के दौरान नरेगा के कार्यों के बारे में जानकारी लेते हुए मीणा ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि नरेगा कार्यों का नियमित रूप से निरीक्षण करें। प्रधानमंत्री ग्राम आवास योजना ग्रामीण की प्रगति की समीक्षा के दौरान मीणा ने सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि गरीबों को आवास आवंटन में तीव्रता लाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक शौचालय के कार्यों में प्रगति लाने एवं उनकी साफ-सफाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। पंचायती राज के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान मीणा ने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान रखने एवं पंचायती राज के कार्यों में सामाजिक अंकेक्षण में जन भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। समीक्षा बैठक के दौरान पंचायती राज्य के शासन सचिव नवीन जैन ने अधिकारियों को नरेगा लाभार्थियों को आधार आधारित वेतन प्रणाली से जोडऩे तथा महिला मेट संख्या को बढ़ाने हेतु निर्देश दिए ।
समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री सलाहकार डॉ जितेंद्र सिंह, झुंझुनू प्रधान पुष्पा चाहर, नवलगढ़ प्रधान दिनेश सुंडा, अलसीसर प्रधान घासीराम पूनिया, बुहाना प्रधान हरि कृष्ण यादव, जिला परिषद सीईओ जवाहर चौधरी, अतिरिक्त जिला कलेक्टर जगदीश प्रसाद गौड़ एवं पंचायती राज विभाग के अधिकारियों भी मौजूद थे ।

 

In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika's group Sambal Samvad
In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika’s group Sambal Samvad
In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika's group Sambal Samvad
In MNREGA, 50 percent of the mates will be women, Rural Development and Panchayati Raj Minister Ramesh Chandra Meena in Rajivika’s group Sambal Samvad

 

 

 

 

————————————————Thank You For visit——————————————————-